Sunday, 6 August 2017

2-534 देश के गद्दारों को

देश के गद्दारों को ठिकाने लगवा दो यार!
कभी तो इस बात का भी फतवा दो यार!..(वीरेंद्र)/2-534


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment