Monday, 1 May 2017

0-598 झूंटे लोग जिनको

झूंटे लोग जिनको पसंद नहीं आते हैं,
दुनियां में ऐसे लोग तनहा रह जाते हैं,
बड़े नाज़ुक मिजाज़ होते हैं वो बेचारे,
लफ़्ज़ों से नहीं, लहजों से मर जाते हैं..(वीरेंद्र)/0-598

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment