Wednesday, 1 March 2017

2-505 देश की ख़ातिर फूटी कौड़ी

देश की ख़ातिर फूटी कौड़ी भी न देते जो, 
उनको देश से हर वक्त बस खैरात चाहिए, 
काला धन देश के खजाने में आए न आए,
पहले उन्हें फोकट का 15-15 लाख चाहिए..(वीरेंद्र)/2-505


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment