Wednesday, 1 March 2017

1-892 कर दिया दाखिल उसने

कर दिया दाखिल उसने, वृद्धाश्रम में उन्हें ले जा कर,
बेशुमार शेर जिसने लिख दिए थे खिदमते-माँ-बाप पर..(वीरेंद्र)/1-892


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment