Wednesday, 1 March 2017

1-891 मांग ली मन्नत खोटा

मांग ली मन्नत खोटा सिक्का भगवान् को चढ़ा कर,
फेंकना था जो सड़ा फल, अर्पित कर दिया मंदिर जाकर..(वीरेंद्र)/1-891


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment