Saturday, 11 February 2017

2-495 अंग्रेजों के पिट्ठू

अंग्रेजों के पिट्ठू क्यूं इतने तिलमिलाए हैं,
जबसे उनके आका रेनकोट पहनके नहाए हैं..(वीरेंद्र)/2-495


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment