Thursday, 9 February 2017

1-877 मै मान गया था तु मुझे

मैं मान गया था तू चाहे तो मुझे भूल जाए,
पर यूं न चाहा था, इतनी दूर निकल जाए..(वीरेंद्र)/1-877

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment