Monday, 6 February 2017

1-876 घायल कर दिया बस आपकी

घायल कर दिया बस आपकी इक सीधी सी नज़र ने,
जाने क्या होता अपना, गर ज़रा सी तिरछी वो हो जाती ..(वीरेंद्र)/1-876

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment