Friday, 4 November 2016

2-462 कुछ दिन से ऐसा कुछ

कुछ दिन से ऐसा कुछ हुआ नहीं जिसका हम इलज़ाम लगा दें,
आओ विरोधियों फिरभी हम किसी न किसी का पुतला जला दें..(वीरेंद्र)/2-462

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment