Wednesday, 30 November 2016

1-edit आसानी से रंग बदल

आसानी से रंग बदल लेते हैं, कितने रंगीले होते हैं लोग,
काश उतने ही अच्छे होते, जितने तस्वीरों में लगते हैं लोग..(वीरेंद्र)/1-

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment