Sunday, 20 November 2016

1-834 जबसे उसने मेरा मासूम दिल

जबसे उसने मेरा मासूम दिल दुखाया है,
चेहरे पर उसके ग़ज़ब निखार आया है..(वीरेंद्र)/1-834

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment