Monday, 10 October 2016

2-436 झूंटे वायदे करने वाले

झूंटे वायदे करने वाले लोग,
सत्तासीन रहे सब सरकारों में,
बाद में हरिश्चंद्र बन जाते हैं, 
जो लिप्त रहे तमाम घोटालों में..(वीरेंद्र)/2-436


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment