Friday, 30 September 2016

2-449 आज पूरा देश बहुत

आज पूरा देश बहुत खुश है पर गद्दारों तुम खुश नहीं होना, 
तुम्हारे आकाओं ने तो तुम्हे सिखाया है ताउम्र रोते ही रहना..(वीरेंद्र)/2-449


रचना: वीरेंद्र सिन्हा ."अजनबी"

No comments:

Post a Comment