Friday, 9 September 2016

2-431 बला की खूबी होती है

बला की खूबी होती है कुछ लोगों में, 
कुछ न होके भी खुदको खुदा समझते हैं,
दुनियां लाख आइना दिखाती रहे उन्हें, 

वो खुद को सुभान-अल्लाह समझते हैं..(वीरेंद्र)/2-431

रचना: वीरेंद्र सिन्हा ."अजनबी"

No comments:

Post a Comment