Wednesday, 8 June 2016

0-428 पैंसठ साल तक गीत गा लिए

पेंसठ साल तक गीत गा लिए तुमने,
ऐ, तलुए-चाटों अब तो कान पकड़ लो,
मिट गये  वो राजसी घराने, ऐ भांडों,
अब तो कोई नया धंधा तुम पकड़ लो..(वीरेंद्र)/0-428

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment