Saturday, 2 April 2016

1-768 दम तो बहुत है तेरे

दम तो बहुत है तेरे समझाने-बुझाने में,
पर इतनी भी सीख न दे, बदले हुए ज़माने में,.(वीरेंद्र)/1-768


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment