Wednesday, 2 March 2016

2-380 किताबों को पढने से

किताबों को पढ़ने से विस्तारित ज्ञान आता है,
जीवन के संघर्ष से व्यवहारिक ज्ञान आता है,
विस्तारित व् व्यवहारिक में चार चाँद लगते हैं,
जब संतों में बैठके आध्यात्मिक ज्ञान आता है..(वीरेंद्र)/2-380


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment