Friday, 25 March 2016

1-760 लगा कर हलकी सी चिंगारी

लगा कर हलकी सी चिंगारी यूं न चला जा,
भड़कने को आग ज़रा हवा भी तो देता जा..(वीरेंद्र)/1-760


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment