Tuesday, 16 February 2016

2-377 बस कुछ जांबाज़ जवानों

बस कुछ जांबाज जवानों, सैनिकों, ने बचा रक्खा है देश को,
वरना गद्दारों ने तो अपनी करनी में कोई कसर रखी नहीं थी.(वीरेंद्र)/2-377


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment