Tuesday, 5 January 2016

2-340 मै तो रह जाता हूँ

मै तो रह जाता हूँ तेरे बिना,
मगर मानता नहीं यह दिल, 
मैंने तो जान ली तेरी मजबूरी,
मगर जानता नहीं यह दिल..(वीरेंद्र)/2-340

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment