Wednesday, 27 January 2016

1-725 मुझे छोडके जो शख्स

मुझे छोड़के जो शख्स चला गया वो बुरा कहाँ था,
ये तो बुरा वक्त था मेरा, और उसका इम्तिहाँ था। (वीरेंद्र)/1-725


रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment