Friday, 17 July 2015

1-668 मै खुदा को समझा

मै खुदा को समझा, उसकी कायनात को समझा,
बस एक शख्स को न मै समझा, न मुझे वो समझा..(वीरेंद्र)/1-668

रचना: वीरेंद्र सिन्हा "अजनबी"

No comments:

Post a Comment